लाइफस्टाइल

गुस्सैल और जिद्दी लोगों से इस तरह करें डील, बन जाएगी बात

7views


जिस व्यक्ति के साथ बातचीत करने के बाद आपको बुरा लगता है, या उसकी बातें चुभने वाली होती है वह कहीं न कहीं मिल ही जाता है. घर से लेकर ऑफिस और बाहरी दुनिया में भी इस तरह के इंसान होते हैं. उन्हें हर बात से शिकायत रहती है और बिना सोचे बोलने की आदत होती है. ऐसे बर्ताव वाले लोगों को टॉक्सिक करार दिया जाता है. अगर ऐसे व्यक्ति आपको परेशान करते हैं, तो बोलना जरूरी है, इनसे डील करने के लिए अपनी बातें रखनी चाहिए. टॉक्सिक इंसानों से कैसे डील किया जाए, इसके लिए कुछ टिप्स यहां बताए गए हैं.

ज्यादा जवाब ना दें
टॉक्सिक बर्ताव वाले व्यक्ति हमेशा दूसरों के बारे में शिकायत करते रहते हैं और उनके इस बर्ताव से निपटना मुश्किल होता है. आरोप लगाना और मुद्दे के लिए नई कहानी बनाना उनकी आदतों में होता है. बेहतर यही होता है कि उन्हें ज्यादा जवाब न दिया जाए. उन्हें साधारण शब्दों में एक लाइन में जवाब देकर छोड़ दें.

उनके व्यवहार के बारे में उनसे बात करेंयदि कोई व्यक्ति दूसरों के साथ गलत तरह से पेश आता है और उसे अपने शब्दों और मुद्दों के बारे में भी पता नहीं रहता, तो उसे इसका पता बाद में भी नहीं चलेगा. वह खुद ही इसका अहसास करेगा, ऐसा नहीं होता है. बेहतर यही होता है कि उसके खराब बर्ताव के बारे में उससे बात की जाए. खुलकर की गई बातचीत से उन्हें भी अपने खराब व्यवहार को समझने में मदद मिलेगी.

खुद को पहले रखें
सिर्फ गाली-गलौच ही टॉक्सिक व्यवहार में नहीं आता बल्कि कुछ औक चीजें भी इसमें आ सकती है. उस इंसान को हर समय आपसे सपोर्ट की जरूरत हो और आप खुद के बारे में सोचे बिना वह सपोर्ट देते भी हो. उस इंसान के साथ आप अपने रिश्तों की वैल्यू समझते हैं लेकिन खुद की भलाई को जोखिम में डालकर सपोर्ट न करें. स्वस्थ रिश्ते में ‘गिव एंड टेक’ का नोशन काम करता है, जो दोनों तरफ होना चाहिए.

डिस्कशन को कहें नो
किसी भी डिस्कशन से खुद को दूर रखने के लिए आपको ना कहना सीखना पड़ेगा. यदि आप कहीं और जाकर नहीं बैठ सकते, तो सीधे शब्दों में एक्सक्यूज मी, कहें और उस डिस्कशन का हिस्सा ही ना बनें. इससे आप उस पूरी स्थिति से अलग हो जाएंगे.

याद रखें कि गलती आपकी नहीं है
टॉक्सिक व्यवहार आपको ऐसा महसूस करा सकता है कि गलती आपने की है लेकिन वास्तव में आपने कुछ नहीं किया होता. टॉक्सिक बर्ताव को झेल पाना मुश्किल होता है क्योंकि ऐसे इंसान आपके शब्दों को तोड़-मरोड़कर पेश करते हुए कुछ अलग ही अर्थ निकाल सकते हैं. उन शब्दों को बिना प्रभावित हुए जाने दें और यह ध्यान रखें कि आपकी कोई गलती नहीं है.

खुद को उपलब्ध ही नहीं रखें
टॉक्सिक बर्ताव वाले लोगों को पता होता है कि उनका टारगेट कौन होगा और किसे वे अपनी बातें सुना सकते हैं. अगर उन्हें यह लगता है कि अब ट्रिक्स काम नहीं कर रही, तो उनके बर्ताव में एक समय के लिए पॉज आ जाता है. काम का बहाना बनाते हुए या अन्य कोई भी बात कहते हुए आप खुद को उस व्यक्ति के लिए उपलब्ध ही नहीं रखें. इस दौरान आपको कुछ कड़वी बातें सुनने को मिल सकती है लेकिन आप उन्हें नजरअंदाज करें.

सीमित समय बिताएं
टॉक्सिक व्यवहार करने वाले इंसान किसी भी चीज के लिए आरोप-प्रत्यारोप करते हुए झगड़ा करने का प्रयास कर सकते हैं. ऐसा तब होता है जब आप ज्यादा समय उनके साथ बिताते हैं. लिमिटेड समय उनके साथ बिताने पर फाइट पिक करने का उन्हें कोई मौका ही नहीं मिलेगा.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

Leave a Response