लाइफस्टाइल

जानें 20 साल की उम्र में रिलेशनशिप के 5 सच, जरूर रखें इन बातों का ख्याल

10views


नए रिलेशनशिप के दौरान आपको अपनी स्टोरी पर काम करना चाहिए.

रिलेशनशिप (Relationship) में कई तरह की बातें शामिल होती हैं. इन बातों के पीछे कई तरह के इमोशन्स (Emotions) भी नजर आते हैं. रिलेशनशिप में रहते हुए इन सभी चीजों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 2, 2020, 8:36 AM IST

रिलेशनशिप (Relationship) में अपनी तरह की अलग जटिलताएं मौजूद होती हैं. ये कभी सरल नहीं होतीं. एक बार जब इन्हें मैनेज करने का तरीका जान लेते हैं, तब इन्हें नेविगेट करने और अपेक्षाएं निर्धारित करने में बहुत आसानी हो जाती है. रिलेशनशिप में कई तरह की बातें शामिल होती हैं. इन बातों के पीछे कई तरह के इमोशन्स (Emotions) भी नजर आते हैं. रिलेशनशिप में रहते हुए इन सभी चीजों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है. यहां रिलेशनशिप के 5 सच के बारे में बताया गया है जो आप अपनी 20 साल की उम्र में सीखेंगे और भविष्य में भी आपको इससे फायदा होगा.

हर कोई बैगेज के साथ आता है
लगभग हर किसी का पास्ट में रिश्ता रह चुका होता है. जब आप किसी नए रिश्ते के लिए कमिट करते हैं, तो इस तथ्य को स्वीकार करना चाहिए कि आप सहित हर व्यक्ति का पास्ट रहा है. इसे समझते हुए आसानी से स्वीकार करें. नए रिलेशनशिप के दौरान आपको अपनी स्टोरी पर काम करना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः Karwa Chauth 2020: करवा चौथ पर पत्नी को दें ये स्पेशल गिफ्ट्स, इस दिन को बनाएं खासकुछ लोग मतलबी हो सकते हैं

आपके लिए चुने गए हर व्यक्ति का आपके लिए आदर्श चयन होना जरूरी नहीं है. यह भी जरूरी नहीं कि उसके दिल में आपके लिए प्यार हो. प्यार में नकार देने वाला अनुभव आपको सिखाएगा. आपको निराशा हो सकती है लेकिन कब लाइन खींचनी है, यह जानना जरूरी है. आपको लगे कि स्थिति हाथ से बाहर जा रही है, तो रिश्ते से बाहर आ जाना चाहिए.

कभी-कभी क्रूर होना जरूरी
हो सकता है कि आप अपने साथी की बातों से ब्लंट न हों. इसका मतलब यह भी हो सकता है कि आप असहज बर्ताव को इनेबल कर रहे हैं. अपने दुखों को खत्म करने के लिए आपको पूरी तरह से ईमानदार होने की जरूरत है. जो बंधन आपकी अपेक्षाओं या इच्छाओं पर विचार नहीं करता, ऐसे रिश्ते में नहीं पड़ना बेहतर रहता है.

विचारशील लोग रत्न की तरह होते हैं

एक विचारशील व्यक्ति वास्तव में आपकी भावनाओं और आवश्यकताओं को समायोजित करना जानता होगा. वह आपको सीखने और काम करने के लिए पर्याप्त स्थान देगा. आप अपने साथी की भावनाओं और इमोशंस के साथ ग्रहणशील बने रहने का प्रयास करें.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना काल में करने जा रहे हैं शादी, तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान

कमजोर होना भी जरूरी है
कमजोर को अक्सर कमजोरी माना जाता है और मजाक भी बनाया जाता है. दूसरे के साथ असुरक्षित महसूस होना आपका भरोसा और गहरे संबंधों का संकेत है. जिस तरह से आप अपने साथी के साथ भावनात्मक, शारीरिक और यहां तक ​​कि सेक्सुअली सहज और सुरक्षित महसूस करते हैं. यह अपने आप में एक संपूर्ण संबंध बनाता है.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

Leave a Response