न्यूज

बंगाल में PM की रैली: दुर्योधन-दुशासन से मंदबुद्धि तक मोदी ने ममता के 7 बयानों का जिक्र किया, बोले- मुझे मिली गालियों की लिस्ट बहुत लंबी है

97views


  • Hindi News
  • National
  • Narendra Modi Asansol Election Rally Update; West Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 Latest News

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलकाता7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने �

पश्चिम बंगाल के आसनसोल में शनिवार को चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा। मोदी ने ममता के 7 बयानों का जिक्र किया। इसमें ममता ने मोदी को लेकर अलग-अलग तरह की बातें कहीं थीं। प्रधानमंत्री ने कहा, चार चरणों के मतदान में TMC खंड-खंड हो गई है। बाकी के चार चरणों में दीदी और भाईपो का पत्ता भी साफ हो जाएगा।

मोदी ने कहा, ‘दीदी, ओ दीदी, आप जितनी चाहे साजिशें कर लीजिए, जितनी चाहे कोशिशें कर लीजिए। इस बार आपकी साजिश बंगाल के लोग खुद ही नाकाम कर रहे हैं। इस बार बंगाल के लोगों ने ही आपके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। चार दौर का मतदान, टीएमसी खंड-खंड हो गई। बाकी चार दौर का मतदान, दीदी का पत्ता साफ।’

‘ममता को गंगा, श्रीराम से घृणा है’
मोदी ने कहा- जो विकास पर विरोध को, विश्वास पर प्रतिशोध को, सुशासन पर राजनीति को प्राथमिकता देती है, ऐसी सरकार पश्चिम बंगाल का भला नहीं कर सकती। इसलिए बंगाल को आशोल पॉरिबोरतोन चाहिए। ममता दीदी को मां गंगा, भगवान श्रीराम इन दोनों नामों से घृणा है। दीदी, गंगा के किनारे बसे भारतीयों को गाली देती हैं, उनकी आस्था, खान-पान, भाषा, पहनावे का अपमान करती हैं।

मोदी ने ममता के कहे 7 बयान दोहराए

  • 19 मार्च को दीदी ने कहा कि वो मोदी का चेहरा नहीं देखना चाहती। फिर दीदी ने देश के प्रधानमंत्री की तुलना, लुटेरे, दंगाई, दुर्योधन, दुशासन से कर दी।
  • 20 मार्च को दीदी ने मुझे श्रमिकों का हत्यारा बताया, दंगा करने वाला बताया।
  • 25 मार्च को दीदी ने जो कहा, वो बताने से पहले बंगाल के संस्कारी लोगों से माफी मांगता हूं। दीदी ने जो गाली दी, मैं उसे मजबूरी में दोहरा रहा हूं। 25 मार्च को दीदी ने कहा- तुम साला खूनी का राजा, खूनी का जमींदार। तुमने सारे पैसे लूट लिए।
  • 26 मार्च को दीदी बोलीं- देश में सिर्फ मोदी की दाढ़ी बढ़ती जा रही है। मोदी के दिमाग के साथ कुछ दिक्कत है, ऐसा लगता है मोदी का कोई स्क्रू ढीला है।
  • 4 अप्रैल को दीदी इस बात पर भड़क गईं कि बंगाल में बीजेपी की सरकार बनेगी।
  • 12 अप्रैल को दीदी ने कहा- जहां मैं जाता हूं, वहां दंगे होने लगते हैं।
  • 13 अप्रैल को दीदी ने फिर से मुझे सबसे बड़ा झूठा कहा, मंदबुद्धि कहा।

लिस्ट बहुत लंबी है, मैंने तो कुछ गालियां हीं बताईं
मोदी ने ममता के 7 बयानों का जिक्र करने के बाद कहा, ‘ये लिस्ट बहुत लंबी है, मैंने कुछ ही गालियां आपके सामने प्रस्तुत की हैं। उन्होंने (ममता) कहा कि क्या मैं भगवान हूं और सुपरह्यूमन हूं। दीदी की गालियों से मुझे कोई दिक्कत नहीं है। दीदी, आप मुझे जितना कोसना है कोसिए, जितनी गाली देनी हो दीजिए लेकिन कम से कम बंगाल के कल्चर को तो मत भूलिए। देश की जनता, बंगाल की समृद्ध विरासत, यहां के लोगों की वाणी-वर्तन पर गर्व करती है।

मृतक लोगों पर राजनीति कर रहीं
मोदी ने ऑडियो लीक का मुद्दा भी उठाया। कहा, ‘कूचबिहार में जो हुआ, उस पर कल एक ऑडियो टेप आपने सुना होगा। 5 लोगों की दुखद मृत्यु के बाद दीदी किस तरह राजनीति कर रही हैं, ये इस ऑडियो से सामने आता है। इस ऑडियो में कूचबिहार के टीएमसी नेता को कहा जा रहा है कि मारे गए लोगों के शवों के साथ रैली करो। अरे दीदी, शर्म करो… दीदी तो मृतक लोगों पर राजनीति करना चाहती हैं। जो मर गए हैं, उनका शोक मनाने के बजाय आप उनके नाम पर वोट बटोरना चाहती हैं।’

किसानों के हित वाले कानून के विरोध में उतर आईं
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘केंद्र सरकार ने किसानों को बिचौलियों से मुक्त करने वाले कानून बनाए, तो दीदी विरोध में उतर आईं। केंद्र सरकार ने किसानों के बैंक खातों में सीधे पैसे ट्रांसफर करने शुरू किए, तो दीदी ने इससे भी किसानों को वंचित रखा। बंगाल को विकास रोकने वाली नहीं, डबल इंजन की सरकार चाहिए। बंगाल में बीजेपी की सरकार बनी तो आपका लाभ कराने वाली हर उस योजना को लागू करेगी, जिन्हें दीदी की सरकार ने रोका हुआ है।’

कोरोना की बैठकों में भी दीदी नहीं आतीं
मोदी ने बंगाल में फैल रहे कोरोना को लेकर भी ममता पर हमला किया। कहा, ‘कोरोना पर पिछली दो बैठकों में बाकी मुख्यमंत्री आए, लेकिन दीदी नहीं आईं। नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल में बाकी मुख्यमंत्री आए, लेकिन दीदी नहीं आईं। मां गंगा की सफाई के लिए देश में इतना बड़ा अभियान शुरु हुआ लेकिन दीदी उससे संबंधित बैठक में भी नहीं आईं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Response