यात्रा

बारिश के मौसम में इस वीकेंड घूमें दिल्ली की ये जगहें…

246views


इन जगहों पर शहर की भागमभाग से दूर, प्रकृति की गोद में आप मानसून का लुत्फ उठा सकते हैं

इन जगहों पर शहर की भागमभाग से दूर, प्रकृति की गोद में आप मानसून का लुत्फ उठा सकते हैं

दिल्ली जैसी सिटी में ऐसी कम ही जगहें हैं जहां हरे-भरे वातावरण के बीच में मॉनसून का लुत्फ उठाया जा सके. अन्य दिनों में तो प्रदूषण और गर्मी लोगों का जीना मुहाल किए रहती है. लेकिन अब जब मौसम थोड़ा सुहाना हो गया है, दिल्लीवासी अपना वीकेंड स्पेंड करने के लिए इन जगहों का चुनाव कर सकते हैं. इन जगहों पर शहर की भागमभाग से दूर, प्रकृति की गोद में आप मानसून का लुत्फ उठा सकते हैं-

ओखला बर्ड सैंक्चुरी

ग्रिनरी के प्रेमी और बर्ड वॉचर्स के लिए यह जगह परफेक्ट है. यहां पर पक्षियों की 400 से ज्यादा प्रजातियां मौजूद हैं. इस मौसम में प्रवासी पक्षियों की भी अच्छी खासी संख्या जमा हो जाती है. इसके अलावा अलग-अलग तरह के पेड़-पौधों की संख्या 188 के करीब है.

यह सैंक्चुरी सभी दिन खुली रहती है. आप सुबह 6 बजे से शाम के 5 बजे तक यहां वक्त गुजार सकते हैं.

यहां की प्रति व्यक्ति एंट्री फीस 30 रुपए हैं.
संजय वन

दिल्ली जैसे शहर में ऐसा वन देखकर आपको भरोसा ही नहीं होगा कि आप दिल्ली में ही हैं. 10 किमी के क्षेत्रफल में फैले इस जंगल में 5 झीलें हैं.जंगल में जगह-जगह आपको पुराने कुएं नजर आएंगे.जंगल में खंडहर के हालत में कई पुरानी इमारतें आज भी इतिहास की झलकियां प्रस्तुत करती दिखाई देती हैं.

सुंदर नर्सरी

यह इन सारी जगहों में सबसे नया है. टाइम मैगजीन ने दिल्ली की सुंदर नर्सरी को 2018 के दुनिया के 100 बेहतरीन जगहों में शामिल किया था. यह निजामुद्दीन स्थित हुमायूं के मकबरे के ठीक सामने 90 एकड़ में फैला पार्क है. इसमें मुगलकाल की कई ऐतिहासिक इमारतों के साथ-साथ पेड़-पौधों की 300 प्रजातियां, संगमरमर के फव्वारे, बगीचा और चिड़ियों की 80 प्रजातियां भी मौजूद हैं.
एक तय शुल्क देकर आप इस नर्सरी का आनंद उठा सकते हैं.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

Leave a Response