न्यूज

भारत की पाकिस्तान को दो टूक- हाफिज सईद के घर के पास धमाके में नहीं था हमारा हाथ, सारे आरोप आधारहीन

100views


(मनोज गुप्ता)

नई दिल्ली. भारत ने पाकिस्तान के इन आरोपों को खारिज कर दिया है कि आतंकी हाफिज सईद के घर के पास हुए धमाके में किसी भारतीय नागरिक का हाथ था. हाफिज साल 2008 में मुंबई  (Mumbai Attacks) में हुए आंतकी हमले का मास्टरमाइंड है. इसके अलावा वो प्रतिबंधित जमात-उद-दावा (JUD) का मुखिया भी है. पिछले महीने लाहौर में हाफिज के घर के बाहर ब्लास्ट हुआ था. बता दें कि विदेश मंत्रालय पाकिस्तान में कुछ आतंकी हमलों में भारत पर लगे आरोपों को पहले भी सीरे से खारिज कर चुका है.

सरकार के शीर्ष सूत्रों ने News18 को बताया कि पाकिस्तान द्वारा जौहर टाउन ब्लास्ट में भारत के शामिल होने के आरोप निराधार और प्रेरित हैं. सूत्रों ने कहा, ‘पाकिस्तान द्वारा जौहर टाउन ब्लास्ट के संबंध में लगाए गए सभी आरोप निराधार और बिना किसी सबूत के हैं. पाकिस्तान सभी जिहादी समूहों को पनाह दे रहा है और हाल ही में इसमें तालिबान भी शामिल हुआ है. भारत में प्रशिक्षण शिविरों और घुसपैठ में आतंकवादी समूहों लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) का जुड़ाव सभी को पता है.’

ये भी पढ़ें:- CBI के रडार पर अखिलेश का ड्रीम प्रोजेक्ट, 40 ठिकानों पर रेड, 190 लोगों पर FIR

आतंकियों को पनाह दे रहा पाकिस्तान
सूत्र ने आगे कहा, ‘जम्मू में ड्रोन हमला भी पाकिस्तान ने ही किया. किसी भी सरकारी एजेंसी को बदनाम करने से पहले पाकिस्तान को सबूत जुटा लेने चाहिए. पाकिस्तान को अपने आईएसआई प्रमुख की 3 जुलाई को सांसदों को दी गई ब्रीफिंग को नहीं भूलना चाहिए, जिसमें सुझाव दिया गया था कि वे पाकिस्तान में तालिबान को पनाह दे रहे हैं.’

क्या है पाकिस्तान का आरोप
लाहौर के जोहर टाउन में बोर्ड ऑफ रेवेन्यू (बीओआर) हाउसिंग सोसाइटी में स्थित हाफिज सईद के घर के बाहर 23 जून को एक विस्फोट हुआ था.  एनएसए यूसुफ ने दावा किया कि हमले का मास्टरमाइंड ‘एक भारतीय नागरिक है’ जिसका खुफिया एजेंसी (R&AW) से संबंध है. एनएसए यूसुफ ने कहा, ‘इन आतंकवादियों के पास से बरामद किए गए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, फोरेंसिक विश्लेषण के जरिए हमने मुख्य मास्टरमाइंड और इस आतंकवादी हमले के संचालकों की पहचान की है.’



Source link

Leave a Response