न्यूज

FIR कैंसिल करने कोर्ट ने रखी बर्गर खिलाने की शर्त: पूर्व पत्नी से रेप का था आरोप, दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा समय बर्बाद हुआ

21views


नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को रेप के आरोप से एक व्यक्ति को मुक्त करने के लिए उसके सामने शर्त रखी। कोर्ट ने कहा कि दो अनाथालय के कम से कम 100 बच्चों को मुफ्त बर्गर खिलाने होंगे। आरोपी ने तुरंत हां कर दी। व्यक्ति पर अपनी पूर्व पत्नी के साथ रेप, उसका पीछा करने और धमकी देने का आरोप था।

जस्टिस जसमीत सिंह की अध्यक्षता वाली सिंगल बैंच ने आरोपी के शर्त मानने के बाद उसके खिलाफ रेप के मामले में हुई FIR को कैंसिल कर दिया। जज ने कहा कि महिला के साथ उसकी शादी हई थी और दोनों के बीच मनमुटाव था। इसके चलते दोनों ने अलग होने का फैसला लिया। सिंह ने कहा- ये वैवाहिक विवाद का मामला है।

कोर्ट का समय बर्बाद हुआ
जज ने कहा – मामला 2020 से चल रहा है। इसमें पुलिस और कोर्ट का काफी समय बर्बाद हुआ है। इस समय का उपयोग अन्य किसी महत्वपूर्ण केस की सुनवाई के लिए किया जा सकता था। जज ने इस केस में FIR के सुझाव को बुरी सलाह बताया। इसके बाद हाईकोर्ट ने आरोपी को दो अनाथालयों के कम से कम 100 बच्चों को बर्गर खिलाने का निर्देश दिया।

नोएडा में बर्गर रेस्तरां चलाता है आरोपी
कोर्ट ने पुलिस को इस बात का ध्यान रखने का निर्देश दिया कि बर्गर अच्छी क्वालिटी का हो और उसे बनाने के दौरान हाइजीन का पूरा ध्यान रखा जाए। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आरोपी के नोएडा में ‘बर्गर सिंह’ और ‘वाट-ए-बर्गर के नाम से दो बर्गर रेस्तरां हैं। साथ ही कोर्ट ने पत्नी को 4.50 लाख देने को भी कहा है।

दोनों पक्षों के बीच पहले ही हो गई थी रजामंदी
इससे पहले 4 जुलाई, 2022 को साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों ने इस बात पर सहमति जताई थी कि दोनों अपनी इच्छा और बिना किसी धमकी या दबाव के समझौता करने को तैयार हैं। महिला ने कहा था कि उसके पूर्व पति के खिलाफ अगर रजिस्टर्ड FIR कैंसिल भी कर दी जाती है, तो उन्हें कोई समस्या नहीं होगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Response